अम्बाला : भावांतर भरपाई योजना किसानों के लिये है बेहतरीन : डीसी

Share This
  • भावांतर भरपाई योजना किसानों के लिये है बेहतरीन : डीसी

राजेन्द्र भारद्वाज। अम्बाला 


प्रदेश सरकार की ओर से  किसानों के कल्याण के लिए भावांतर भरपाई योजना चलाई जा रही है। इस योजना के अन्तर्गत आलू, फूल गोभी, मटर, किन्नू, गाजर, टमाटर, प्याज, शिमला मिर्च, बैंगन और अमरूद की फसलें शामिल हैं। उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि किसानों को भावांतर भरपाई योजना का लाभ लेने के लिए अपनी उक्त फसलों का पंजीकरण और सत्यापन निर्धारित समय अवधि के दौरान करवाना होता है।

उन्होंने कहा कि भावांतर भरपाई योजना के तहत फसलों के संरक्षित मूल्य में वृद्धि की गई है। पहले भावांतर भरपाई स्कीम में टमाटर, फूल गोभी, आलू और प्याज इन 4 फसलों पर किसानों को मुख्यतौर पर लाभ दिया जाता था। अब योजना के अंतर्गत 6 और फसलों को शामिल किया गया है जिनमें किन्नू, अमरुद, गाजर, मटर, शिमला मिर्च और बैंगन की फसल शामिल है। किसान के हित में सरकार  की ओर से संरक्षित मूल्य में बढ़ौतरी की गई है।

उन्होंने बताया कि आलू का संरक्षित मूल्य 500 रुपये, फूलगोभी का 750 रुपये, गाजर का 700 रुपये, मटर और किन्नू का 1100-1100 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है। टमाटर का संरक्षित मूल्य 500 रुपये, प्याज का 650 रुपये, शिमला मिर्च 900 रुपये, बैंगन 500 रुपये और अमरूद का मूल्य 1300 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि भावांतर भरपाई योजना बागवानी किसानों को सब्जियों और  फसलों के लिये उचित दाम दिलवाना सुनिश्चित करती है तथा यह योजना किसानोंं को फसल विविधिकरण की ओर प्रोत्साहित करने में एक सहायक कदम है।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *