अम्बाला : सीजेएम ने पीडि़त मुआवजा योजना के तहत विद्यार्थियों को किया जागरूक

Share This
  • सीजेएम ने पीडि़त मुआवजा योजना के तहत विद्यार्थियों को किया जागरूक
  • एमएमडीयू में महिलाओं से संबंधित कानून के विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित

राजेन्द्र भारद्वाज। अम्बाला 


महार्षि मार्कण्डेश्वर मानित विश्वविद्यालय मुलाना के विधि विभाग में जिला विधिक प्राधिकरण अम्बाला के सहयोग से बच्चों और महिलाओं से संबंधित कानून के विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई। इस मौके पर अम्बाला के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सीजेएम और डीएलएसए अम्बाला के सचिव दानिश गुप्ता मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। उन्होंने सरकार की ओर से चलाई गई ‘‘पीडि़त मुआवजा योजना‘‘ के तहत वहां उपस्थित विद्यार्थियों को जागरूक किया। इस मौके पर लॉ डिपार्टमेंट की प्रधान डॉ बिंदु जिंदल ने ‘‘लिंग भेदभाव‘‘ पर बताया कि हमारे देश में लिंग भेदभाव नहीं होना चाहिए। इसका समापन लोगों की मानसिकता में परिवर्तन आने से ही हो सकता है। इसके अतिरिक्त डॉ सरोज छाबड़ा ने ‘कार्यस्थल में महिलाओं के साथ यौन उत्पीडऩ अधिनियम, डॉ शिप्रा गुप्ता ने ‘हिन्दू धर्म में बच्चा गोद लेने और रख रखाव अधिनियम, प्रणव रंगा ने ‘कन्या भूर्ण हत्या अधिनियम , कुंजना मित्तल ने ‘शिक्षा का अधिकार अधिनियम, शालिनि गुप्ता ने ‘दहेज विरोधी अधिनियम, पूनम लाम्बा ने ‘धारा 498 , शिल्पा गर्ग ने ‘पोक्सो एक्ट‘, जगदीप चौधरी ने  ‘एसिड अटैक‘ अधिनियम, सुजाता दहिया ने ‘घरेलू हिंसा विरोधी‘ अधिनियम, सुजाता उपाधयाय ने ‘साइबर अपराध एवं कानून’ पर अपने विचार व्यक्त किये। इस कार्यक्रम के मंच संचालन का कार्यभार गायत्री  शर्मा ने संभाला। इस कार्यक्रम में  लॉ विभाग के प्रोफेसर एसपी सैनी, प्रीति गुप्ता, रिम्पी भारद्वाज, सिमरन कौर, अमृत कौर, मनदीप कौर, शीनम कौशिक, दीपाली गर्ग, आशिमा गर्ग, प्रवीण कुमार और विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *