झज्जर : आपराधिक गिरोह का बदमाश अवैध हथियार के साथ चढ़ा सीआईए के हत्थे

Share This
  • अनेक आपराधिक मामलों में था हरियाणा व दिल्ली पुलिस का अति वांछित
  • बीती 19 मई को द्वारका में हुई दिल्ली पुलिस के साथ मुठभेड़ में घायल होने के बाद हुआ था फरार

झज्जर । ब्यूरो


झज्जर पुलिस की विभिन्न टीमों ने पिछले कुछ दिनों में मुस्तैदी के साथ कार्रवाई करते हुए अनेक आपराधिक वारदातों को सुलझाने में बडी कामयाबी हासिल की गई । एसएसपी श्री अशोक कुमार आईपीएस के आदेशानुसार गहनता से कार्रवाई करते हुए पुलिस की अलग-अलग टीमों ने हत्या, हत्या के प्रयास , लुटपाट, चोरी व छीना झपटी की अनेक वारदातों के दोषियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गई। एसएसपी श्री अशोक कुमार के दिशा निर्देशानुसार झज्जर पुलिस ने चौतरफा निगरानी रखने तथा वांछित, अति वांछित दोषियों की धरपकड़ के लिए विशेष अभियान चलाया हुआ है। विशेष अभियान के तहत पुलिस की एक टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर मुस्तैदी से कार्रवाई करके आपराधिक गिरोह के एक बदमाश को अवैध असलाह के साथ काबू करने में सफलता प्राप्त की गई है। बीती 19 मई को द्वारका मोड़ दिल्ली क्षेत्र में हुई पुलिस के साथ मुठभेड़ में घायल होने के पश्चात मौका से फरार हुए पकड़े गए बदमाश प्रदीप @ भगत @ मोनू के कब्जे से मौका पर एक नाजायज रिवॉल्वर व एक मोटरसाइकिल बरामद की गई है। मोस्ट वांटेड बदमाश विकास दलाल के सहयोगी व आपराधिक गिरोह के पकड़े गए उपरोक्त बदमाश के खिलाफ दिल्ली व हरियाणा में संगीन किस्म के अनेक आपराधिक मामले अंकित हैं। जिनमें वह दिल्ली व हरियाणा पुलिस का अति वांछित आरोपी है।
मामले की जानकारी देते हुए अपराध जांच शाखा झज्जर में तैनात उपनिरीक्षक रामजस ने बताया कि एसएसपी झज्जर श्री अशोक कुमार आईपीएस के आदेशानुसार आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम तथा वांछित दोषियों की धरपकड़ के लिए झज्जर पुलिस द्वारा विशेष अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत मुस्तैदी से कार्रवाई करते हुए गुप्त सूचना पर एक बदमाश को काबू किया गया है। विशेष रूप से आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम तथा वांछित अपराधियों की धरपकड़ के लिए गठित अपराध जांच शाखा झज्जर की एक टीम द्वारा मुस्तैदी से कार्रवाई करते हुए एक अवैध रिवॉलवर तथा मोटरसाइकिल के साथ एक आरोपी को थाना शहर झज्जर के एरिया से काबू किया गया। उन्होंने बताया कि सीआईए झज्जर में तैनात मुख्य सिपाही प्रदीप कुमार व राकेश कुमार तथा अन्य की टीम झज्जर बाईपास रोड कोसली मोड़ के एरिया में गश्त पर तैनात थी। पुलिस टीम को गुप्त सूचना मिली थी कि बदमाश विकास दलाल का सहयोगी व आपराधिक गिरोह का बदमाश प्रदीप उर्फ भगत उर्फ मोनू कोसली की तरफ से एक मोटरसाइकिल पर सवार होकर झज्जर की तरफ आ रहा है। जो हरियाणा व दिल्ली में हत्या, लूटपाट और छीना झपटी के अनेक आपराधिक मामलों में वांछित है। वह पुलिस की पकड़ से लगातार फरार चल रहा है। गुप्त सूचना के आधार पर तुरंत सक्रिय होते पुलिस टीम द्वारा मौका पर ही कोसली रोड पर नाकाबंदी की गई। नाकाबंदी पर कोसली की तरफ से आने वाले दुपहिया वाहनों पर कड़ी नजर रखी जाने लगी। कुछ ही देर बाद कोसली की तरफ से एक मोटरसाइकिल पर सवार एक युवक आता दिखाई दिया। जिसे टीम द्वारा रुकने का इशारा किया गया। बाइक सवार ने बाइक को एकदम वापिस कोसली की तरफ मोड़कर भागना चाहा तो टीम ने तुरंत कार्रवाई करके उसे काबू कर लिया। शक की बिनाह पर पकड़े गए बाइक सवार से पूछताछ की गई तो उसने अपना नाम पता प्रदीप @ भगत @ मोनू @ कैरियो @ मिला पुत्र रमेश निवासी गांव कैर थाना जाफरपुर नजफगढ़ दिल्ली हाल गांव सिद्धिपुर लोवा जिला झज्जर बतलाया। पकड़े गए युवक की मौका पर तलाशी लेने पर उस के कब्जे से एक अवैध रिवॉल्वर, एक मैगजीन तथा दो जिंदा कारतूस बरामद हुए। अवैध असलाह तथा मोटरसाइकिल सहित पकड़े गए आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए थाना शहर झज्जर में मामला दर्ज किया गया ।
उन्होंने बताया कि अवैध हथियार के साथ पकड़ा गया आरोपी एक आपराधिक गिरोह का सक्रिय बदमाश है। वह 19 मई 2019 को द्वारका मोड़ दिल्ली के एरिया में हुई मुठभेड़ में मृतक बदमाश विकास दलाल का सहयोगी है और उस मुठभेड़ में घायल होने के बाद वह अपने एक अन्य साथी के साथ मौका से फरार हो गया था। गिरोह के अन्य साथियों के साथ मिलकर पकड़े गए बदमाश ने दिल्ली व हरियाणा में अनेक आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया था। पकड़े गए बदमाश प्रदीप उर्फ भगत ने प्राथमिक पूछताछ में कई आपराधिक वारदातों का खुलासा किया है। जिनमें :—–
1 पकड़े गए बदमाश ने अपने गिरोह के अन्य साथियों के साथ मिलकर दिसंबर 2018 में रोहिणी दिल्ली के एरिया से एक स्विफ्ट डिजायर गाड़ी छीनने की वारदात को अंजाम दिया था।
2 पकड़े गए बदमाश ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर रोहिणी से छीनी हुई स्विफ्ट डिजायर गाड़ी में सवार होकर 25 दिसंबर 2018 को मोनू निवासी बाजितपुर को गाड़ी से टक्कर मारकर गोलियां मारने की वारदात को अंजाम दिया था।
3 पकड़े गए बदमाश ने मार्च 2019 में अपने सहयोगी बदमाश विकास दलाल व अन्य साथियों के साथ मिलकर द्वारका दिल्ली के एरिया से हथियारों के बल पर एक स्विफ्ट गाड़ी छीनने की वारदात को अंजाम दिया था।
4 पकड़े गए बदमाश ने मई 2019 में अपने एक अन्य साथी के साथ मिलकर मित्राउ दिल्ली के एरिया से एक मोटरसाइकिल स्टेनर चोरी करने की वारदात को अंजाम दिया था।
5 पकड़े गए बदमाश ने 10 अप्रैल 2019 को बदमाश विकास दलाल व अन्य साथियों के साथ मिलकर गांव जसिया के एरिया में स्थित एक पेट्रोल पंप पर हथियारों के बल पर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया था।
6 पकड़े गए बदमाश ने 10 अप्रैल 2019 को ही बदमाश विकास दलाल व अन्य साथियों के साथ मिलकर एक स्विफ्ट गाड़ी और मोटरसाइकिल पर सवार होकर चांदी पेट्रोल पंप रोहतक से हथियारों के बल पर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया था।
7 पकड़े गए बदमाश ने 10 अप्रैल 2019 को ही बदमाश विकास दलाल व अन्य साथियों के साथ मिलकर एक स्विफ्ट गाड़ी में सवार होकर जुलाना जिला जींद के इलाके के एक पेट्रोल पंप पर हथियारों के बल पर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया था।
8 पकड़े गए बदमाश प्रदीप उर्फ भगत ने 19 मई 2019 को अपने साथी विकास दलाल व अंकित सांपला के साथ मिलकर द्वारका मोड़ दिल्ली पर गोलियां मारकर प्रवीण उर्फ गोलू की हत्या करने की वारदात को अंजाम दिया था। जिसके पश्चात पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में विकास दलाल की मृत्यु हो गई। वह पैर में गोली लगने से घायल हो गया था और अपने दूसरे साथी अंकित के साथ एक स्विफ्ट गाड़ी में सवार होकर मौका से फरार हो गया था।
उन्होंने बताया कि पकड़े गए आपराधिक गैंग के बदमाश प्रदीप उर्फ भगत के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे अदालत झज्जर में पेश किया गया। जहां से आरोपी को न्यायिक हिरासत भेज दिया गया।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *