फरीदाबाद : अस्पताल की शर्मनाक करतूत: मरीज के कटे हुए पैरों को ही बना दिया तकिया

Share This

राजेन्द्र भारद्वाज। फरीदाबाद


नई दिल्ली-मुंबई सेंट्रल राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आने से एक शख्स के दोनों पैर कट गए। ये हादसा बड़खल फ्लाईओवर के नजदीक हुआ। घटना के बाद उपचार के लिए शख्स को उपचार के लिए अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टरों ने संवेदनहीनता की सारी हदें पार कर दीं।

दरअसल, मरीज को स्ट्रेचर पर ले जाते समय अस्पताल स्टाफ ने उसके कटे हुए पैर को ही उसका तकिया बना दिया। मामला सार्वजनिक होने के बाद जब डॉक्टरों से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने चुप्पी साध ली। शख्स की पहचान प्रदीप (42) निवासी भूड़ कॉलोनी के रुप में हुई है जो एक फैक्ट्री में नौकरी करता है।

मिली जानकारी के अनुसार प्रदीप फैक्ट्री जाने के लिए बड़खल फ्लाईओवर के पास रेलवे लाइन पार कर रहा था। इस दौरान पैर फंसने की वजह से वह ट्रैक पर ही गिर पड़े। प्रदीप पटरी में फंसे अपने पैर को निकाल पाते, इससे पहले ही तेज रफ़्तार से आ रही सुपरफास्ट ट्रेन पैरों को शरीर के बाकी हिस्से से अलग करते हुए निकल गई।

उपचार के लिए बीके अस्पताल लाने के बाद उसे स्ट्रेचर पर लिटाया गया। तकिया नहीं मिलने पर स्टाफ ने उसके कटे पैरों से सिर को सहारा दिया। मरीज की गंभीर हालत को देखते हुए उसे दिल्ली ट्रॉमा सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया है। मामले को लेकर सीएमओ गुलशन अरोड़ा से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने न उठाकर जवाब नहीं दिया।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *