फरीदाबाद: गौरक्षा समिति के सदस्यों ने ट्रक से 24 गौवंश को कराया मुक्त

Share This
  • गौरक्षा समिति के सदस्यों ने ट्रक से 24 गौवंश को कराया मुक्त
  • पुलिस ने गौतस्करों को हिरासत में लेकर ट्रक को किया काबू 

होडल। रतन सिंह


गौरक्षा  सेवा समिति के सदस्यों ने बीती सुबह अपनी जान पर खेलकर एक 12 टायर वाले  ट्रक में से 24 गौवंश को मुक्त कराया  जिनमें से 2 गौवंश मृत अवस्था में मिले। गौतस्करों ने यहां गौरक्षा समिति के सदस्यों की गाड़ी में टक्कर मारकर भागने का प्रयास किया लेकिन समिति के सदस्यों ने अपनी जान की परवाह करे बगैर गौतस्करों का कई किलोमीटर तक पीछा कर गौवंश को उनके चंगुल से मुक्त करा लिया। समिति के सदस्यों ने एक गौतस्कर को मौके पर ही पकड़ लिया  जबकि अन्य तस्कर भागने में सफल हो गए। समिति के सदस्यों ने पकड़े गए तस्करों को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने समिति के सदस्यों की शिकायत पर मामला दर्ज कर गौवंश को पास की गौशाला में भेज दिया है। पुलिस ने गौतस्करों को हिरासत में लेकर ट्रक को काबू कर लिया है। पुलिस मौके से फरार हुए अन्य गौतस्करों की तलाश में जुट गई है।
गौरक्षा समिति के प्रधान भगत सिंह रावत ने बताया कि उन्हें मुखबिर की ओर से सूचना मिली कि कुछ गौतस्कर एक 12 टायर वाले  ट्रक में भारी मात्रा में गौवंश लेकर मेवात की ओर जा रहे है। सूचना मिलते ही भगत सिंह रावत ने यूपी एवं हरियाणा पुलिस को इसकी सूचना दे दी लेकिन वें गौतस्कर यूपी से हरियाणा की सीमा में प्रवेश कर गए। समिति के भगत सिंह  रावत एवं अन्य सदस्य विष्णु, ललित, हरेंद्र, सुखदेव, महेश, देवीलाल, पुरषोत्तम करमन बॉर्डर के निकट खड़े होकर ट्रक के आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही उन्होंने ट्रक को रोकने का प्रयास किया तो ट्रक में सवार गौतस्करों ने गौरक्षा समिति के सदस्यों की गाडी में टक्कर मारकर भागने का प्रयास किया लेकिन समिति के सदस्यों ने अपना बचाव करते हुए अपनी गाड़ी को ट्रक के पीछे लगा दिया। गौतस्करों ने गौवंश से भरे ट्रक को शहर के अंदर घुसा दिया। समिति के सदस्यों ने ट्रक का लगभग 5 किलोमीटर तक पीछा करने के बाद उसे नेशनल हाइवे बावरी मोड़ के निकट पकड़ लिया। समिति के सदस्यों ने एक गौतस्करों को भी मौके पर दबोच लिया जबकि अन्य गौतस्कर भागने में सफल हो गए। दल के सदस्यों ने जब ट्रक की तलाशी ली तो उसमें से 24 गौवंश बरामद किए जिनमें से 2 गौवंश मृत अवस्था में मिले। दल के सदस्यों ने पुलिस को मामले की सूचना दी और पकड़े गए गौतस्कर एवं गौवंश से भरी गाडी को पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने गौवंश को गांव मर्रोली स्थित गौशाला में छोड दिया है। तस्कर एवं गाड़ी को काबू  कर लिया है। समिति के प्रधान भगत सिंह रावत ने कहा कि रात में पुलिस वाहन चैकिंग के नाम पर अवैध वसूली कर रही है तभी तो गौतस्करों के हौसले बुलंद हैं। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस सख्ती करे तो एक भी गौवंश की गाड़ी क्षेत्र से बाहर नहीं निकल सकती। उन्होंने कहा कि गौतस्करों को पुलिस की पूरी शह मिल रही है तभी तो यें वारदातें दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं। पुलिस की ढुलमुल कार्यशैली के चलते समिति के सदस्यों एवं शहर के लोगों में पुलिस के प्रति रोष व्याप्त है।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *