झज्जर : शहीद परिवार को मिलने वाली सम्मान निधि को 50 लाख से बढ़ाकर देश में सबसे ज्यादा किया जाए : दीपेंद्र हुड्डा

Share This
  • विधानसभा सत्र में कांग्रेस के सभी विधायक मिलकर उठायेंगे मांग
  • दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सकारात्मक कदम सरकार उठाए सरकार
  • शहीद सार्जेंट विक्रांत सहरावत के शहादत दिवस पर किया मूर्ति का अनावरण

राजेन्द्र भारद्वाज। झज्जर


कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य दीपेंद्र हुड्डा ने गांव भदानी में पुलवामा आतंकी हमले के जवाबी हमले में शहीद हुए सार्जेंट विक्रांत सहरावत की शहादत दिवस के अवसर पर उनकी मूर्ति का अनावरण किया और शहीद सार्जेंट विक्रांत सहरावत की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर शहीद के परिवार को नमन किया। दीपेंद्र हुड्डा ने शहीदों की ओर से अपने देश के लिये अपना सब कुछ न्यौछावर करके दी गयी कुर्बानी को याद किया। इस दौरान कांग्रेस विधायक गीता भुक्कल सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद रहे।

इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 2012 में जब देश में शहीदों के लिये कोई नीति नहीं थी तब हुड्डा सरकार ने शहीद परिवार को 50 लाख रुपये की सम्मान निधि देने की नीति बनायी थी। ये राशि उस समय पूरे देश में सबसे ज्यादा थी। पिछले कुछ वर्षों में देश के अन्य राज्यों की सरकारों ने इस सम्मान निधि को आगे बढ़ाने का काम किया। लेकिन, हरियाणा में इसमें कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई। उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर शहीद परिवार को मिलने वाली सम्मान निधि को बढ़ाया जाए और इसे एक बार फिर से पूरे देश में सबसे ज्यादा किया जाए। उन्होंने हरियाणा सरकार की पूर्व मंत्री और मौजूदा विधायक गीता भुक्कल से आग्रह किया कि विधानसभा का सत्र चल रहा है और सभी विधायक मिलकर इस मसले को विधानसभा में उठाएं और सरकार पर दबाव बनाएं ताकि सरकार सकारात्मक कदम उठाने को बाध्य हो।

दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि देश के लिये शहीद सैनिकों, पूर्व सैनिकों एवं उनके परिवार वालों का मान-सम्मान सबसे ऊपर है। हमारे देश की फौज ने हमेशा दुश्मनों को ऐसा जवाब दिया कि उसकी गूंज पूरी दुनिया में सुनी गयी। हमारे देश की फौज का गौरवशाली इतिहास रहा है और हरियाणा की भूमि का नौजवान अपने लहू से उस कलम में स्याही भरता है जिससे ये गौरवशाली इतिहास लिखा जाता है। हम सबको इस बात पर गर्व है। हमारा कर्तव्य बनता है कि हम सब शहीद के परिवार के सुख-दुःख में साथ खड़े हों। उन्होंने युवाओं से अपील करते हुए कहा कि देश की सेवा के लिये शहादत देने वाले अमर शहीदों के सपनों का भारत बनाने के लिये आगे आयें। साथ ही उन्होंने स्थानीय विधायक तथा प्रशासनिक अधिकारियों से भी अनुरोध किया कि शहीद स्मारक पर ऐसा पार्क बनवाया जाए जिससे कि लोग दूर-दूर से उसे देखने आयें और उन्हें प्रेरणा मिले। इस पर सभी ने सकारात्मक ढंग से सहमति जतायी।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *