हरिद्वार : समाजसेवी सोनू सेठी ने हर की पौड़ी हरिद्वार में 5 अज्ञात लोगों की अस्थियां की प्रवाहित

Featured Video Play Icon
Share This

राजेन्द्र भारद्वाज। हरिद्वार


जीरकपुर में सेठी ढाबा के संचालक समाजसेवी सोनू सेठी ने हरिद्वार में हर की पौड़ी पर 5 अज्ञात लोगों की अस्थियां प्रवाहित की। उन्हाेंने कहा कि जिंदगी में मौज मस्ती तो बहुत की है लेकिन ऐसे काम करने में ही उन्हें सुकून मिलता है। उन्होंने बताया कि 5 अज्ञात काेरोना पीड़ितों की अस्थियां पिछले 2 महीनों से जीरकपुर के शमशान घाट में रखी हुई थी। इस शमशान घाट में सेवा कार्य करने वाली सर्व समाज सेवा समिति ही हर महीने अज्ञात लोगों की अस्थियां प्रवाहित करती है। इस बार उनके मन में इच्छा हुई तो उनके आग्रह पर समिति ने उन्हें यह सेवा कार्य सौंप दिया। उन्होंने कहा कि काेरोना वायरस महामारी के चलते लागू लॉकडाउन में हरिद्वार हर की पौड़ी पर बहुत ही बुरा हाल है। उनके पास हरिद्वार आने के लिए सरकारी परमिशन होने के बावजूद पूरे रास्ते में काफी चैकिंग और पूछताछ हुई। अस्थि विर्सजन के लिए आने वालों को केवल 4 घंटे का समय दिया जाता है क्योंकि यहां होटल, धर्मशालाएं और अन्य सार्वजनिक स्थल ठहरने के लिए प्रतिबंधित किए हुए हैं। उन्होंने कहा कि अस्थि विसर्जन करवाने वाले पंडित जी ने एक बहुत ही रोचक बात बताई कि जन्म के समय किसी इंसान का जितना वजन होता है उतना ही वजन उसकी अस्थियाें का होता है। सोनू सेठी ने बताया कि जीवनभर गृहस्थी और कारोबार में लगे रहने के बाद अंतिम समय में पता चलता है कि राम नाम सत्य है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार हर की पौड़ी स्थित ब्रह्मकुंड से ही स्वर्ग और नरक के लिए आत्माओं को ले जाने वाला जहाज चलता है। इस मौके पर उनके साथ मुकेश और शिरड़ी सांई परिवार के मोंटी मौजूद थे।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *