रोहतक : नागरिकों को कोविड-19 संक्रमण के दौरान अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं भी दी जाएं : प्रभजोत सिंह

Share This
  • बच्चों का शत प्रतिशत टीकाकरण किया जाए
  • गर्भवती महिलाओं के समय पर सभी टैस्ट किए जाए
  • सभी योजनाओं का पूर्ण लाभ आम जनता को दिया
  • रोहतक का किया दौरा करोना काल में प्रशासन द्वारा किए गए कार्य की की सराहना
रिंकू परमार। रोहतक


हरियाणा के नेशनल हेल्थ मिशन के निदेशक प्रभजोत सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक में  निर्देश देते हुए कहा कि वे कोविड-19 के संक्रमण से निपटने हेतू सभी आवश्यक प्रबंध करें। कोविड-19 के साथ-साथ आमजन को अन्य चिकित्सा सुविधाएं भी नियमित रूप से उपलब्ध करवाई जाएं। जिला में बच्चों के टीकाकरण के शत प्रतिशत लक्ष्य को हासिल किया जाए व गर्भवती महिलाओं के सभी आवश्यक टैस्ट भी करवाएं जाएं।   मिशन निदेशक प्रभजोत सिंह का स्थानीय सर्किट हाऊस में उपायुक्त आर एस वर्मा  की उपस्थिति में स्वास्थ्य विभाग की राज्य स्तरीय टीम के साथ जिला में कोविड-19 से निपटने हेतू किए गए प्रबंधों तथा स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से जिलावासियों को उपलब्ध करवाए जा रहे स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा कर रहे थे।  प्रभजोत सिंह ने कहा कि जिला में आमजन को सावधानी रखते हुए कोविड-19 के साथ-साथ अन्य स्वास्थ्य सेवाएं भी प्रदान की जाएं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव हेतू आरोगय सेतू ऐप को सभी के मोबाईल फोन में डाउनलोड़ करवाएं। कोविड-19 का आशा वर्कर द्वारा घर-घर जाकर आगामी सर्वेक्षण किया जाएगा, जिसकी निगरानी के लिए उपमण्डलाधीश स्तर के अधिकारी को नियुक्त किया जाए।  मिशन निदेशक प्रभजोत सिंह ने कहा कि गर्भवती महिलाओं का शत प्रतिशत पंजीकरण महत्वपूर्ण है। ऐसी सभी महिलाओं का शुगर टैस्ट, ब्लड प्रैशर व अन्य आवश्यक टैस्ट समय पर करवाने के अतिरिक्त वजन भी करवाएं। ऐसी महिलाओं को केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा क्रियान्वित की जा रही योजनाओं का पूरा लाभ दिया जाए। उन्होंने कहा गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण को मिशन मोड के रूप में लेकर पूर्ण किया जाए। उन्होंने कहा कि हैपेटाईटस बी व सी के टैस्ट के साथ साथ आवश्यक दवाईयां भी दी जाएं। ऐसी महिलाओं में अनीमिया की समस्या के निदान हेतू आयरन की गोलियां प्रदान की जाएं। उन्होंने कहा स्वस्थ बच्चा व स्वस्थ मां के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए नियमानुसार कार्यवाही की जाए। समय पर गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाउंड करवाया जाए तथा उनहें फोलिक ऐसिड की गोलियां प्रदान की जाएं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण व अन्य सुविधाएं प्रदान करने हेतू निजी चिकित्सकों को भी प्रोत्साहित किया जाए तथा 9 माह के दौरान पूर्ण चैकअप करवाया जाए। जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के तहत सभी स्वास्थ्य सुविधाएं निशुल्क प्रदान की जाएं। संस्थागत प्रसूतियों को बढ़ावा दिया जाए तथा ऐसी महिलाओं को प्रावधान के अनुरूप पूर्ण डाईट प्रदान की जाए। उन्होंने कहा कि जननी सुरक्षा योजना के तहत भी ऐसी महिलाओं को सभी स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएं तथा उनके आधार कार्ड भी लिंक किए जाएं। उन्होंने कहा कि ऐसी महिलाओं को निशुल्क, सुरक्षित व स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। एमटीपी क ा प्रशिक्षण दिलवाया जाए। उन्होंने कहा कि सीएमओ द्वारा सरपंचों को पत्र लिखकर उन्हें वर्तमान में ज्वाईन करने वाले डाक्टरों के बारे में बताया जाए ताकि वे ग्राम वासियों को ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य सुविधाएं दिलवा सकें।  उन्होंने करो ना कॉल में प्रशासन द्वारा किए गए कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि रोहतक दिल्ली के नजदीक होते हुए भी प्रशासन की जागरूकता के कारण यहां संक्रमण फैलने में काफी बचाव रहा है उन्होंने उम्मीद जाहिर की है की उपायुक्त आर एस वर्मा और सीएमओ अनिल बिरला के आपसी तालमेल से भविष्य में और भी अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे ।
Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *