नारायणगढ़ : पोषण माह के अन्तर्गत विभिन्न गतिविधियां हुई आयोजित : सीडीपीओं सीमा

Share This
  • पोषण माह के अन्तर्गत विभिन्न गतिविधियां हुई आयोजित : सीडीपीओं सीमा

बरखा राम धीमान। नारायणगढ़


महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी सीमा ने बताया कि सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। पोषण माह मनाने का मुख्य उद्देश्य देश में से कुपोषण को खत्म करना है। इसलिए हर वर्ष 1 से 30 सितंबर तक पोषण माह मनाया जाता है। इसके अंतर्गत लोगों की खानपान की आदतों में सुधार लाने का प्रयास किया जाता है। इस वर्ष भी सितंबर माह पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है इसके अंतर्गत लोगों को खानपान की आदतों में सुधार लाने का प्रयास किया जा रहा है। कोविड 19 की हिदायतों का पालन करते हुए पोषण माह मनाया जा रहा है। 11 सितम्बर को सप्ताह में की गई गतिविधियों का पोषण पंचायतो के द्वारा रिव्यु किया गया। लोगों को पोषण की गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया गया। वर्करों द्वारा अनीमिया पर गृह भेंट की गयी और महिलाओं को जागरूक किया गया।

12 सितम्बर को गर्भवती, स्तनपान कराने वाली माताओं, किशोरियों के साथ बैठक में सुपरवाइजर सुचित्रा सैनी द्वारा नारायणगढ़ खण्ड़ के गांव सैनमाजरा तथा सुपरवाइजर अंजू द्वारा गांव भूरेवाला में तथा खंड के अन्य गांवों में वर्करों द्वारा गृह भेंट की गयी तथा स्तनपान के महत्व के बारे जागरूकता किया गया। इसी प्रकार शहजादपुर खण्ड़ में बेरपुरा, कक्डमाजरा, शहजादपुर माजरा, मंगलौर आदि में जानकारी दी गई।

14 सितम्बर को स्वास्थ्य जांच और अति कुपोषित बच्चों पर आधारित वेबिनार गतिविधियों में नारायणगढ ब्लॉक के गांव खानपुर तथा लाहा में सुपरवाइजर अंजू द्वारा तथा खंड के गांवों में आंगनवाडी वर्करों द्वारा किशोरियों, गर्भवती महिलाओं तथा दूध पिलाने वाली माताओं का वजन लिया गया। उन्हें खान पान के बारे बताया गया। वर्करों द्वारा घर-घर जाकर अनीमिया के बारे लोगों को जागरूक किया गया। शहजादपुर खण्ड़ के गांव जटवाड़, रायवाली, नगल घडौली, बडागढ, धनाना आदि में इस प्रकार की गतिविधियां आयोजित की गई।

15 सितम्बर को ग्रामीण स्वच्छता, स्वास्थ्य और पोषण बारे आयोजित जागरूकता गतिविधि में गांव फतेहपुर 80 में सुपरवाइजर अंजू द्वारा तथा अन्य गांव में वर्करों द्वारा का आयोजन किया गया। जिसका मुख्य उद्देश्य स्वच्छता, स्वास्थ्य व समृद्धि तथा पोषण के बारे जागरूकता फैलाना रहा। गर्भवती महिलाओं तथा बच्चों की स्वास्थ्य जांच की गई। इसी प्रकार शहजादपुर खण्ड़ के गांव छज्जूमाजरा, पतरेहड़ी, कोडवा खुर्द, बिचली धमौली, तंदवाल व वासलपुर आदि में जागरूकता गतिविधियां की गई।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *