चंडीगढ़ : 2019 की तुलना में इस साल 30 सितंबर तक प्रदेशभर में अपराध में 6 प्रतिशत की गिरावट दर्ज : विज 

Share This
  • 2019 की तुलना में इस साल 30 सितंबर तक प्रदेशभर में अपराध में 6 प्रतिशत की गिरावट दर्ज : विज 

राजेन्द्र भारद्वाज। चंडीगढ़


हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि बीते वर्ष 2019 की तुलना में इस साल 30 सितंबर तक प्रदेशभर में अपराध में ग्राफ में करीब 6 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। विज ने कहा कि 2019 के प्रथम 9 माह के दौरान 102831 मामलों की तुलना में इस बार 96672 केस दर्ज हुए। उन्होने कहा कि कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला हमेंशा ट्विट करते रहते हैं कि हरियाणा में अपराध का ग्राफ बढ रहा है परंतु उन्हें यह समझना चाहिए कि प्रदेश में क्राईम ग्राफ तेजी से गिरा है। पिछले वर्ष की तुलना में इस साल हत्या, महिला विरुद्ध अपराध, डकैती, लूटपाट, फिरौती के लिए अपहरण सहित अन्य जघन्य अपराध के मामलों में कमी आई है। इतना ही नहीं, 2018 की तुलना मंे भी 2019 में अपराध में कमी दर्ज की गई थी।

गृह मंत्री ने बताया कि राज्य में महिलाओं के विरुद्ध हो रहे अपराधों में 17 प्रतिशत की कमी दर्ज की है जबकि हत्या के मामलों को हल करने में 88 प्रतिशत सफलता हासिल की है। इसी प्रकार बलात्कार के मामलों में भी 13.57 प्रतिशत की कमी आई है तथा 93 प्रतिशत बलात्कार के मामलों को सफलतापूर्वक सुलझाया गया है। प्रदेश में अपहरण की वारदातो में 20.73 प्रतिशत कमी आई है। विज ने कहा कि पुलिस विभाग की सतर्कता के चलते प्रदेश में सड़क दुर्घटना के मामलों में भी 20.23 प्रतिशत की गिरावट के साथ भारी कमी दर्ज की गई है। इस अवधि में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत 2240 मामले दर्ज कर भारी मात्रा में 339 किलो अफीम, 208 किलो चरस, 7319 किलो गांजा, 10130 किलो चूरा पोस्त, 31 किलो हेरोइन एवं 11 किलो स्मैग बरामद कर नशे का अवैध धंधा करने वालों को उनके अंजाम तक पहुंचाया गया है। इसके अतिरिक्त पुलिस ने 1241 पिस्टल 37 रिवाल्वर एवं 2463 कारतूस बरामद किए हैं।

उन्होने कहा कि पुलिस ने जनवरी से लेकर सितंबर तक 198 आपराधिक गैंग का पर्दाफाश करते हुए 182 मोस्ट वांटेंड अपराधियों को सलाखों में भेजने का काम किया है। साथ ही, 2806 गुमशुदा लोगों को तलाश कर उन्हें उनके परिजनों को सौप कर मानवता का धर्म निभाया है।  विज ने कोरोना काल के दौरान पुलिसबल द्वारा किए गए कार्य की सराहना करते हुए कहा कि पुलिस ने जहां मानवता की सेवा करते हुए अपराध पर भी अंकुश लगाने का काम किया, वहीं 2124 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हुए जबकि 6 कर्मी इस महामारी से जूझते हुए मृत्यु को प्राप्त हो गए। इस अवसर पर डीजीपी हरियाणा मनोज यादव ने कहा कि राज्य में बढाई गई गश्त और पुलिसकर्मियों की पैनी निगरानी से अपराध के ग्राफ को काफी हद तक नीचे लाने में मदद मिली है। अपराध पर अंकुश लगाने में हमें लगातार सफलता मिल रही है। बेहतर कानून व्यवस्था को दर्शाने वाले सभी प्रमुख संकेतकों हत्या, डकैती और लूटपाट जैसे अपराध में इस साल के 9 माह में गिरावट देखी गई है।

इस अवसर पर गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोडा, पुलिस महानिदेशक अपराध मोहमद अकील, हरियााणा पुलिस हाउसिंग काॅरपोरेशन के प्रबन्ध निदेशक डाॅ आरसी मिश्रा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आलोक राय, नवदीप सिंह विर्क, कलाराम चंद्रन, पुलिस आयुक्त सौरभ सिंह सहित विभाग के अनेक वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *