अम्बाला : आदेश में नि:शुल्क टयूमर का आप्रेशन कर बचाई डेढ वर्षीय बच्ची की जान

Share This
  • दिल्ली के जहागीरपुरी की रहने वाली है दृष्टि : परिजन नहीं करवा सकते थे आप्रेशन

राजेन्द्र भारद्वाज। अम्बाला


मोहड़ी स्थित आदेश अस्पताल में टयूमर का नि:शुल्क आप्रेशन कर डेढ वर्षीय बच्ची की जान बचाई गई है। करीब अढाई घंटे का आप्रेशन कर डा. विवेक ने इस बच्ची को जीवनदान किया है। आज कल यह बच्ची आदेश अस्पताल की सेलिब्रिटी बनी है और स्टॉफ से लेकर यहां आने वाला हर व्यक्ति इस बच्ची को आर्शीवाद दे रहा है। पत्रकारों से बातचीत में दिल्ली के जहांगीरपुरी निवासी बच्ची दृष्टि की माता निधि ने बताया कि उसकी बेटी दृष्टि की गर्दन के पीछे काफी बढ़ा टयूमर था। जिसके आप्रेशन की बातचीत उन्होंने दिल्ली के कईं अस्प्तालों में की । लेकिन आप्रेशन का खर्च इतना बताया गया कि जिसे वह वहन नहीं कर सकते और डॉक्टर दृष्टि की जान बचाने को लेकर संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे थे। निधि ने बताया कि इस दौरान उनकी बात एनजीओ चलाने वाली दिल्ली निवासी कंचन व अंबाला निवासी कामिनी से हुई। जिन्होंने दृष्टि का जिक्र आदेश ग्रुप के चेयरमेन डा.एच.एस. गिल से किया। जिस पर डा. गिल ने दृष्टि का नि:शुल्क आप्रेशन करने को हरि झंडी दी और दृष्टि को 7 फरवरी को आदेश अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां अस्पताल के अनुभवी चिकित्सक डा. विवेक, डा. सरबजीत, डा. इशान व उनकी टीम ने इस बच्ची का सफल आप्रेशन किया। डा. विवेक ने बताया कि काफी बढ़ा टयूमर था इसलिए आप्रेशन काफी संयम से किया जाना था। डा. विवेक ने बताया कि करीब अढाई घंटे आप्रेशन चला क्योंकि एक-एक नस की सफाई जरूरी थी ताकि यह टयूमर फिर से न पनपे। डा. विवेक ने कहा कि दृष्टि अब बिल्कुल स्वस्थ है और पूरे स्टॉफ की यही कामना है कि यह बच्ची हमेशा स्वस्थ रहे। एनजीओ चला रही दिल्ली निवासी कामिनी व कंचन ने दृष्टि की दवाईयोंं का खर्च वहन किया है और नि:शुल्क आप्रेशन के लिए आदेश ग्रुप के चेयरमेन डा. एचएस गिल का आभार जताया है। इस अवसर पर प्रिंसीपल बी.एल. भारद्वाज, ब्रिगेडियर अमरजीत सिंह, चिकित्सा अधीक्षक डा.एन.एस. लांबा, डा. नरेश ज्योति, प्रबंधक हरिओम गुप्ता, डा. गायत्री, मेजर धर्म सिंह चहल मौजूद रहे।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *