MP : कांग्रेस MLA डागा के ठिकानों पर IT की रेड, 450 करोड़ की अघोषित संपत्ति का हुआ पर्दाफाश- 9 बैंक लॉकर भी मिले

Share This

हरियाणा न्यूज एक्सप्रैस।  बैतूल


मध्य प्रदेश के बैतूल से कांग्रेस विधायक निलय डागा के घर इंकम टैक्स द्वारा 4 दिन से कार्रवाई की जा रही है। डागा के घर पड़ी IT के छापे की कार्रवाई सोमवार को भी पूरा दिन जारी रही। अभी तक IT की टीम को निलय के पास से 450 करोड़ रुपए की अघोषित संपत्तियों की जानकारी मिली है। इसके अलावा निलय के 9 बैंक लॉकर्स का भी पता चला है, जिसकी जांच की जा रही है। वहीं उनके पास से 8 करोड़ रुपए नकद और 44 लाख रुपए से ज्यादा की विदेशी करेंसी भी बरामद की गई है।

बैतूल विधायक डागा के ठिकानों पर IT रेड में मिली 450 करोड़ की अघोषित संपत्ति, 8 करोड़ कैश और 9 बैंक लॉकर भी मिले

सूत्रों के अनुसार पूछताछ में डागा और उसके परिवार ने बताया कि 259 करोड़ रुपए उन्होंने अलग-अलग कंपनियों में इन्वेस्ट करके कमाए हैं। उनकी अघोषित प्रॉपट्री में सबसे बड़ी राशि शैल कंपनियों में निवेश के जरिए कमाई गई है। IT की टीम ने बैतूल में सोया प्रोडक्ट्स मैन्युफेक्चरिंग ग्रुप के बैतूल और सतना, महाराष्ट्र के सोलापुर, मुंबई के साथ कोलकाता में एक साथ छापेमार कार्रवाई की थी। इस दौरान 8 करोड़ रुपए कैश बरामद किया गया था। इस कैश के बारे में कंपनी के पदाधिकारी कोई जानकारी नहीं दे पाए हैं।

सूत्रों के अनुसार इनकम टैक्स की टीम की जांच के दायरे में जो कंपनियां आई थी उन्होंने जिन दूसरी कंपनियों से लेन-देने होने की बाता कही, उनके पते फर्जी निकले हैं और अघोषित संपत्ति में 52 करोड़ रुपए के बारे में पता चला है। कंपनी की तरफ से दावा किया गया था कि यह कंपनी का मुनाफा है, लेकिन जांच में सामने आया कि यह प्रॉफिट जिन कंपनियों के जरिये होना बताया गया था, वो कंपनियां असलियत में हैं ही नहीं, बल्कि कंपनियों के जो नाम है वो तो कर्मचारियों के ही हैं।

इनकम टैक्स की जांच में निकलकर सामने आया है कि लगभग सभी जानकारियों के तथ्य फर्जी हैं। जिन कंपनियों के बीच लेनदेन का ब्यौरा दिया गया, उसे भी अभी तक प्रूफ नहीं किया जा सका। इन कंपनियों को जिनके नाम से चलाया जा रहा था, उन्हें इस लेन-देन के बार में कोई जानकारी हीं नहीं है। इसी के ही साथ 27 करोड़ रुपए की आमदनी शेयर बेचकर होना बताया गया है हालांकि शेयरों की खरीदी-बिक्री कोलकाता स्थित शैल कंपनियों के जरिए की गई।

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *